Computer Generation In Hindi | कम्प्यूटर की पीढ़ियों का इतिहास ?

Computer Generation In Hindi | कम्प्यूटर की पीढ़ियों का इतिहास ?

आज के इस टॉपिक में हम बात करेंगे कंप्यूटर जनरेशन कितनी होती है कंप्यूटर जनरेशन इसके बाद कौन सी जनरेशन आई है किस जनरेशन में कौन सी चीज यूज की गई थी किस चीज को किसने बनाया था वह किस साल में आई थी यह सारी बातें हम इस आर्टिकल में जानेंगे।  


Computer Generation In Hindi | कम्प्यूटर की पीढ़ियों का इतिहास ?



 जिन लोगों को नहीं पता कंप्यूटर में सबसे पहले कौन सी जनरेशन आई थी उसमें कौन सी चीज यूज की थी उसके बाद कौन सी जनरेशन आई थी आज की जनरेशन चल रही है उन लोगों के लिए आज के इस आर्टिकल में यह सारी बातें विस्तार से बताई गई है। 

 वर्तमान कंप्यूटर इलेक्ट्रॉनिक इन पर आधारित है इस कंप्यूटर इलेक्ट्रॉनिक्स की शुरुआत 1946 में हुई थी लेकिन कंप्यूटर का इतिहास बहुत ही पुराना है। 

 क्या आप जानते हैं कि हजारों साल पहले माना जाता था कि बनाया गया यंत्र अबेकस इसका उपयोग आज भी स्कूल में मैथ करने के लिए किया जाता है। 

तो आपको बता दें कि कंप्यूटर की शुरुआत तो हजारों साल पहले ही हो गई थी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के शुरू होते ही कंप्यूटर की तकनीक में क्रांतिकारी परिवर्तन आने लगे आगे बढ़ती गई जैसे समय बीतता गया वैसे ही कंप्यूटर की नई नई जनरेशन बाहर आते गए। 

प्रथम कंप्यूटर एनी 1 से लेकर आज तक के कंप्यूटर में समय-समय पर आवश्यकता के अनुसार काफी परिवर्तन किए गए हैं एक नई डिवाइस तैयार की गई कंप्यूटर की पांचों जनरेशन नीचे बताई गई है। 

  • प्रथम
  • द्वितीय
  • तृतीय
  • चतुर्थ
  • पंचमी

 यह 5 जनरेशन कंप्यूटर की है

प्रथम जनरेशन 1946 से 1956 तक के कंप्यूटर को लिया गया है प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर 1946 मैं अस्तित्व आया था जिसका नाम इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटेड एवं केलकुलेटर इसका आविष्कार जेपी कल्ट सत्ता मौलवी ने किया था प्रथम जनरेशन के कंप्यूटर में वैक्यूम युग का प्रयोग किया जाता था। 

दूसरी जनरेशन कंप्यूटर सन 1956 से 1964 टक्के कंप्यूटर को लिया गया है इस पीढ़ी के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर को यूज किया गया है जो व्यक्ति यूट्यूब से काफी बेहतर थे ट्रांजिस्टर इस पीढ़ी के कंप्यूटर का मुख्य घटक था आपको पता है कि ट्रांजिस्टर का आविष्कार विलियम तथा उनकी सहयोगी वैज्ञानिक टीम ने 1947 अमेरिका ने किया था। 

तृतीय चंद्रसेन की कंप्यूटर की बात की जाए तो 1964 से 1971 इस पीढ़ी के कंप्यूटर को लिया गया है तीसरी जनरेशन उनके कंप्यूटर में काफी विकास हुआ था इस जनरेशन में कंप्यूटर को ट्रांजिस्टर के स्थान पर इंटीग्रेटेड सर्किट आईसी का प्रयोग किया गया था इंटीग्रेटेड सर्किट का आविष्कार इंस्ट्रूमेंट कंपनी इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर जैक किर्बी द्वारा 1958 में किया गया है। 

चतुर्थ जनरेशन उनके कंप्यूटर सन 1971 से 1985 के बीच के कंप्यूटर को शामिल किया गया है इसमें इलेक्ट्रॉनिक सर्किट के बदले वेरी लार्ज स्केल इंटीग्रेटेड चिप का प्रयोग किया गया है माइक्रो प्रोसेसर कहा जाता है इस टेक्नोलॉजी में एक ही चीज पर 30,000 कंपोनेंट्स को इंटीग्रेट करना संभव हुआ है। 

पांचवी जनरेशन सन 1985 के बाद से आज तक और आगे भविष्य में आने वाले सभी कंप्यूटर में पांचवी जनरेशन को रखा गया है इस जनरेशन के कंप्यूटर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग कर इनको बुद्धिमान बनाने का प्रयोग किया गया है जिससे वॉइस रिकॉग्निशन एवं इमेज कंट्रोल का तीव्र गति से इस्तेमाल किया गया है। 



आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय छोड़ सकते हैं। 
हमारा आर्टिकल पड़ने के लिए धन्यवाद।
आपका दिन शुभ रहे। 

0 Comments

Post a Comment

If you have any doubts, Please let me know