RAM और ROM क्या है? difference between ram and rom memory.

RAM और ROM क्या है? difference between ram and rom memory


RAM और ROM क्या है? difference between ram and rom memory.

इस पोस्ट में हम Difference Between RAM and ROM Memory in Hindi में जानेंगे की RAM और ROM Memory में क्या अंतर है?


RAM और ROM Memory में क्या अंतर है?

RAM और ROM दोनों ही कंप्यूटर की इंटरनल मेमोरी होती हैं। इन दोनों मेमोरी की कंप्यूटर में बहुत ही बड़ी भूमिका है क्योकि बिना इसके कोई भी कंप्यूटर काम नहीं कर सकता।

अगर RAM और ROM  के बीच के मुख्य अंतर की बात की जाये तो  यह है की RAM एक अस्थायी मेमोरी है जबकि ROM कंप्यूटर की स्थायी मेमोरी है। RAM एक रीड-राइट मेमोरी है और ROM एक रीड ओनली मेमोरी है।

इसके आलावा RAM और ROM के बीच कई अन्य अंतर भी हैं जिनको हम डिफ्रेंस टेबल के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम RAM और ROM किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is RAM in Hindi-रैंडम एक्सेस मेमोरी किसे कहते है?

RAM कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी का एक हिस्सा है RAM एक रैंडम एक्सेस मेमोरी है इसका मतलब है की इसे सीपीयू द्वारा सीधे एक्सेस किया जा सकता है। कंप्यूटर की RAM एक Volatile मेमोरी है इसका मतलब है कि अगर बिजली चली जाती है या कंप्यूटर के रेसटार्ट होने की स्थित में इसमें स्टोर इनफार्मेशन रिमूव हो जाती है।

एक कंप्यूटर में RAM का उपयोग वर्तमान में CPU द्वारा प्रोसेस किये जाने वाले डेटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है। आमतौर पर रैम की स्टोरेज क्षमता 64 एमबी से  16 जीबी यह इससे भी अधिक तक होती है।

रैम कंप्यूटर की सबसे तेज और महंगी मेमोरी है। यह कंप्यूटर की रीड-राइट मेमोरी है। प्रोसेसर रैम से निर्देशों को पढ़ सकता है और रैम को परिणाम लिख सकता है। एक रैम के डेटा को Modified किया जा सकता है।

RAM दो प्रकार के होते है स्टैटिक रैम और डायनामिक और दोनों अपनी-अपनी विशेषताएं होती है। 

  • स्टैटिक रैम वह होती है जिसे अपने अंदर डेटा को बनाए रखने के लिए पावर के निरंतर प्रवाह की आवश्यकता होती है। यह DRAM की तुलना में अधिक तेज और महँगी है। इसका उपयोग कंप्यूटर के लिए कैश मेमोरी के रूप में किया जाता है।
  • डायनामिक रैम को अपने मौजूद डेटा को बनाए रखने के लिए रिफ्रेश करना पड़ता है और यह स्टैटिक रैम की तुलना में धीमी और सस्ती है।

What is ROM in Hindi-रीड ओनली मेमोरी किसे कहते है?

कम्यूटर की ROM एक Read Only Memory है। ROM का डेटा केवल CPU द्वारा पढ़ा जा सकता है लेकिन इसे संशोधित नहीं किया जा सकता है। CPU सीधे ROM मेमोरी तक को एक्सेस नहीं कर सकता है इसके लिए डेटा को पहले RAM में ट्रांसफर करना पड़ता है, और फिर CPU उस डेटा को RAM से एक्सेस कर सकता है।

ROM मेमोरी बूटस्ट्रैपिंग (कंप्यूटर को बूट करने की एक प्रक्रिया) के दौरान कंप्यूटर के लिए आवश्यक निर्देश को संग्रहीत करता है। ROM एक non-volatile मेमोरी है इसलिए ROM के अंदर होने वाला डेटा कंप्यूटर के बंद होने पर भी रिमूव नहीं होता है।

दूसरे शब्दों में कहे तो ROM में केवल एक बार ही प्रोग्राम को डाला जाता है और फिर उसके बाद उसको सिर्फ रीड किया जा सकता है उसको Modified नहीं किया जा सकता

कंप्यूटर में ROM की क्षमता RAM से तुलनात्मक रूप से छोटी है और यह RAM से धीमी और सस्ती है। रॉम के कई प्रकार हैं जो इस प्रकार हैं।

PROM: यह  Programmable ROM होती है और इसे केवल एक बार यूजर के द्वारा modified किया जा सकता है।

EPROM: यह Erasable और Programmable ROM में इस ROM की इनफार्मेशन को पराबैंगनी किरणों के उपयोग से मिटाया जा सकता है।

EEPROM: Electrically Erasable और Programmable ROM इसे इलेक्ट्रिकली  मिटाया जा सकता है और लगभग दस हज़ार बार reprogrammed किया जा सकता है।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में हमने जाना Difference Between RAM and ROM Memory in Hindi की RAM और ROM Memory में क्या अंतर है इसके साथ ही RAM और ROM Memory किसे कहते है और इसका एक कम्पूटर में क्या काम होता है इसको भी अच्छे से जाना।

RAM और ROM दोनों ही कंप्यूटर के लिए आवश्यक मेमोरी है। जहां कंप्यूटर को बूट करने के लिए ROM एक आवश्यक है वही दूसरी तरफ सीपीयू प्रोसेसिंग के लिए RAM काफी महत्वपूर्ण है।

1 comment

If you have any doubts, Please let me know
EmoticonEmoticon