Web hosting kya hai in hindi | वेब होस्टिंग के प्रकार?

Web hosting kya hai in hindi | वेब होस्टिंग के प्रकार

वेब होस्टिंग एक प्रकार की सुविधा प्रदान करती है किसी भी वेबसाइट को इंटरनेट पर लगाने के लिए वेब होस्टिंग की जरूरत पड़ती है। 

Web hosting kya hai in hindi | वेब होस्टिंग के प्रकार


वेब
होस्टिंग का इस्तेमाल आप अपने फोटोस, वीडियोस, पेजेस, कांटेक्ट, जैसी आदि चीजें आप उस पर अपलोड कर सकते हैं। वेब होस्टिंग एक प्रकार की सर्विस है जोकि हमें वेबसाइट को इंटरनेट पर अपलोड करने की सुविधा प्रदान करती है।  वेब होस्टिंग इन किसी भी समय 24 घंटे पलब्ध रहती है। उसे यूजर कहीं भी किसी भी समय पर किसी भी तरह से यूज कर सकते हैं। 


वेब होस्टिंग सर्विसेज से हमें
खरीदना पड़ता है। वेब होस्टिंग का मेंटेनेंस बहुत अधिक महंगा होता है।  इसलिए हमें उसे खरीदना पड़ता है। उसका सालाना या मासिक चार्ज हमें चुकाना पड़ता है। हम जिस तरह की रकम करते हैं। उसी तरह की वेब सर्वर से स्पेशल होस्टिंग मिलती है जिसमें हम अपने फोटोस, वीडियो, इमेजेस, आदि चीजें डाल सकते हैं। 


वेब को पोस्ट करने के लिए हमें सबसे पहले उसका डोमेन सर्वर खरीदना पड़ता है। वह सालाना या मासिक होता है। वह हमे सिक्योरिटी प्रोवाइड करता है। जिससे किसी भी ब्राउज़र पर अपनी वेबसाइट सारे लोग देख सकते हैं और उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। वेब होस्टिंग सभी वेबसाइट को इंटरनेट पर अपनी जगह प्रदान करती है।  इसकी वजह से एक व्यक्ति या ऑर्गेनाइजेशन के वेबसाइट को पूरी दुनिया में इंटरनेट के जरिए एक्सेस किया जा सकता है। वेब होस्टिंग करने के लिए बहुत बड़ा डाटा स्टोरेज वेब सर्वर चाहिए होता है। इसमें सारा डाटा स्टोर करके हम उसका इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर कर सकते हैं। डोमेन नेम को होस्टिंग में जोड़ने के लिए डीएनएस  का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से वेबसाइट को पता चलता है कि उसकी वेबसाइट कौन से वेब सर्वर में रखा गया है। क्योंकि हर सरवर का डीएनएस से अलग अलग होता है। 


वेब होस्टिंग खरीदने के लिए आपके पास ढेरो ऑप्शंस पड़े हैं। पर आपको यह डिसाइड करना पड़ता है कि आपकी जरूरत के हिसाब से कौन सी कंपनी ठीक है। होस्टिंग खरीदने से पहले कुछ जानकारियां भेजना जरूरी होती है कि उसकी स्पीड कितनी ही खरीदें उसकी बैंडविथ कैसी हो वह सब जानना पड़ता है। जैसे कि आप 500GB खरीदते हो तो उसका प्राइस अलग होता है जिसे अब 1tb स्पेस खरीदते हो तो उसका प्राइज अलग होता है। 


आपको एक बात का ध्यान रखना पड़ता है आपकी डिस्क कभी भी फुल हो सकते इसलिए मेरी राय के अनुसार आपको वह हमेशा अनलिमिटेड वाली होस्टिंग खरीदनी चाहिए जिससे आपको डिस्क फुल होने का खतरा नहीं रहेगा और होस्टिंग कंपनी कहती है की वह 24 * 7 कस्टमर सर्विस प्रोवाइड करती है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता मैं कितनी बार होस्टिंग ट्राई कर चुका हूं। गोडैडी जैसी वेबसाइट बैक कस्टमर सर्विस के लिए आपको फोन पर भी बात करना पड़ता है। जो कि फ्री नहीं होता। 
वेब होस्टिंग के 3 प्रकार होते हैं।
         

1) Shared web hosting

2) VPS (Virtual Private Server)

3) Dedicated hosting



आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय छोड़ सकते हैं। 
हमारा आर्टिकल पड़ने के लिए धन्यवाद।
आपका दिन शुभ रहे। 


0 Comments

Post a Comment

If you have any doubts, Please let me know