Apple कहा कि कम्पनी हैं और इसका मालिक कौन हैं – पूरी जानकारी हिंदी में

 Apple कहा कि कम्पनी हैं और इसका मालिक कौन हैं – पूरी जानकारी हिंदी में – एप्पल वर्तमान समय में दुनिया की सबसे बड़ी कम्पनियो में से एक है। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम करने वाली इस कम्पनी ने पिछले कुछ सालो में भारत में भी काफी तेजी से विस्तार किया हैं। एप्पल ना केवल भारत में अपने स्मार्टफोन Apple iPhone को तेजी से बेचती हैं बल्कि साथ में Apple के लैपटॉप Macbooks और कई अन्य डिवाइज भी भारत में काफी ज्यादा बढ़ते हैं। 

Jio के आने के बाद हमारे देश में लोग इंटरनेट से तेजी से जुड़े जिसके चलते स्मार्टफोन्स, लैपटॉप और इस तरह के अन्य डिवाइजो की डिमांड भी तेजी से बढ़ी हैं और क्युकी Apple इस तरह के प्रीमियम और रिलायबल डिवाइज बनात हैं तो उसकी Sells भी देश में काफी तेजी से बढ़ी। Apple के बारे में आज हर कोई जानता हैं लेकिन क्या आप जानते हैं की ‘एप्पल कहा की कम्पनी हैं’, ‘एप्पल का मालिक कौन हैं’ और ‘एप्पल का इतिहास क्या हैं’? अगर नहीं तो यह लेख पूरा पढ़े क्युकी इस लेख में हम इन विषयो पर बात करने वाले हैं।


एप्पल कहा की कम्पनी हैं – Apple Kaha Ki Company Hain?

वर्तमान में भारत में एप्पल काफी शानदार सेल्स कर रही हैं और अच्छे खासे स्टॉक्स में डिवाइज लांच करने के बाद भी भारत में एप्पल के डिवाइज आते ही तेजी से स्टॉक आउट हो जाते हैं तो देश में एप्पल की बढ़ती हुई लोकप्रियता को दर्शाता हैं। एप्पल ने पिछले कुछ सालो में देश में काफी विस्तार किया है और यह तेजी से लोगो की पसंद भी बन रहा हैं तो ऐसे में दिमाग में यह सवाल तो तय हैं की आखिर ‘एप्पल कहा की कम्पनी है’ या फिर ‘एप्पल की सदेश की कम्पनी है’ तो बता दे की एप्पल अमेरिका की कम्पनी है जो पूरी दुनिया में काम करती हैं और इसका हेड-ऑफिस भी अमेरिका में केलिफोर्निया में स्थित हैं।

एप्पल का मालिक कौन है – Apple Ka Malik Kaun Hai?

एप्पल का नाम वर्तमान में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल है तो ऐसे में यह बात भी साफ है कि एप्पल हर साल करोड़ों अरबों रुपए का प्रॉफिट भी कमाती हैं। एप्पल की बढ़ती हुई लोकप्रियता के कारण कई बार लोगों के दिमाग में यह सवाल आता है कि आखिर एप्पल का मालिक कौन है अर्थात इस कंपनी को हो रहे प्रॉफिट को कौन प्राप्त करता है। तो बता दे की एप्पल एक सार्वजनिक रूप से आयोजित कम्पनी हैं यानि की इसके कई शेयर्स हैं और उन शेयरों को होल्ड करने वाले लोग एप्पल का मालिक हैं। ऐसे में यह कहा जा सकता हैं की एप्पल का कोई एक मालिक नहीं हैं बल्कि हजारो या फिर हो सकता हैं की लाखो मालिक हैं।

एप्पल कम्पनी की शुरुआत 1 अप्रैल 1976 को स्टीव जॉब्स, स्टीव वॉजनिएक और रोनाल्ड वेन ने मिलकर की थी। वही एप्पल के वर्तमान सीइओ ‘Tim Cook’ हैं यानि की कम्पनी में अगर किसी व्यक्ति का सबसे अधिक दबदबा है तो वह इसके सीईओ टीम कूक है जो काफी लोकप्रिय भी हैं। लेकिन एप्पल की सफलता का सबसे ज्यादा श्रेय स्टीव जॉब्स को दिया जाता है क्योंकि उन्हीं की वजह से या फिर कहा जाए तो उन्हीं के समय में एप्पल ने सबसे अधिक ग्रोथ प्राप्त की। वही अगर एप्पल के सबसे बड़े शेयरहोल्डर्स की बात की जाये तो वह कुछ इस प्रकार हैं:

  1. The Vanguard Group, Inc. 
  2. Berkshire Hathaway, Inc. 
  3. BlackRock Fund Advisors 
  4. SSgA Funds Management, Inc. 
  5. Fidelity Management & Research Co. LLC

एप्पल का इतिहास क्या हैं – Apple History in Hindi

अपने प्रीमियम प्रोडक्ट के चलते एप्पल ने भारत में काफी कम समय में अपना एक बेहतरीन वर्चस्व तैयार कर लिया है और यही कारण है कि आज के समय में एप्पल की डिवाइस रखने वाले लोगों को प्रोफेशनल और अमीर माना जाता है, फिर चाहे असलियत कुछ भी हो। एप्पल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों से करोड़ों रुपए कमा रहा है और वर्तमान में एप्पल का नाम प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में काम कर रही सबसे बड़ी कंपनियों में भी शामिल है। लेकिन कोई भी कंपनी स्तर पर ऐसे ही नहीं पहुंची जाती, इसमें कई लोगों की मेहनत, रणनीतियां और इनोवेटिव आइडियाज शामिल होते हैं। अगर आप एप्पल की सफलता को सही रूप से समझना चाहते हो तो आपको एप्पल के इतिहास के बारे में पता होना चाहिए। तो चलिए जानते हैं एप्पल कंपनी के बारे में!

साल 1975 में एक दिन जब स्टीव जॉब्स और उनके करीबी दोस्त स्टीव वोजनियाक एक कंप्यूटर तैयार कर रहे थे तब उनको इसी क्षेत्र में एक कंपनी बनाने का आइडिया आया और उन्होंने अपने गैरेज में ही इस पर काम करना शुरू कर दिया। साल 1976 में 1 अप्रैल के दिन स्टीव जॉब्स, स्टीव वोजनियाक और रोनाल्ड वेन ने मिलकर ‘Apple’ कंपनी की शुरुआत कर दी। एप्पल कंपनी ने शुरुआत से ही उच्च स्तरीय कंप्यूटर तैयार किए जो लोगों को पसंद आए जिसके चलते कंपनी ने काफी तेजी से ग्रोथ हासिल की। एप्पल ने एक के बाद एक कंप्यूटर निकाले जिनमें आधुनिक तकनीकी का प्रयोग किया गया जिसके चलते एप्पल लगातार सफल होता गया।

साल 1980 में 12 दिसंबर के दिन एप्पल का आईपीओ लाया गया और उस समय एप्पल के 1 शेयर की कीमत $24 रखी गई थी। स्टीव जॉब्स एप्पल की ग्रोथ में लगातार अपना योगदान दे रहे थे लेकिन कुछ कारण की वजह से कंपनी का बुरा समय शुरू हुआ और स्टीव जॉब्स को 1985 में कंपनी के सीईओ जॉन स्कली के द्वारा कंपनी से निकाल दिया गया लेकिन इसके बाद कंपनी की ग्रोथ एक तरह से रुक सी गई। स्टीव जॉब्स ने उधर Next Inc. की शुरुआत की और जो ग्रोथ हासिल कर रही थी। इस कंपनी को एप्पल ने खरीदा और स्टीव जॉब्स को वापस से कंपनी के सीईओ का पद दिया गया।

इसके बाद स्टीव जॉब्स लगातार एक के बाद एक इनोवेटिव आइडिया लेकर आए और उन पर काम करने लगे जिससे एप्पल कंपनी ने काफी ग्रोथ हासिल की। एप्पल कंपनी का प्रॉफिट और मार्केट वैल्यू स्टीव जॉब्स के समय में काफी तेजी से बढ़ा और कंपनी ने तेजी से पूरी दुनिया में विस्तार भी किया। इसके बाद साल 2004 में स्टीव जॉब्स में कैंसर के चलते हैं सीईओ का पद छोड़ दिया और साल 2011 में कैंसर की वजह से उनकी मृत्यु हो गई। लेकिन स्टेज ऑफ़ ने कंपनी को इस मुकाम पर पहुंचा दिया कि आज एप्पल प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है।

1 comment

If you have any doubts, Please let me know
EmoticonEmoticon